ताजा खबर
बिहार में तो लड़ेंगी जातियां ही गिरमिटिया महोत्सव के रूप में मानेगा लोकरंग 2019 कूड़े के ढेर पर बैठी काशी ! अतिक्रमणकारी थे तो उन्हें मुआवजा क्यों
तो शत्रुघ्न सिन्हा अब कांग्रेस के साथ

फज़ल इमाम मल्लिक 

पटना .बिहार में भारतीय जनता पार्टी ने अभी तक अपने उम्मीदवारों का एलान नहीं किया है. गुरुवार की शाम भाजपा ने दिल्ली में पार्टी की पहली सूची जारी की लेकिन बिहार के उम्मीदवारों की सूची नहीं जारी की गई. बिहार में भारतीय जनता पार्टी सत्रह सीटों पर चुनाव लड़ रही है. माना जारहा है कि भाजपा पटना साहब से अपने सांसद और अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट काट देगी. शत्रुघ्न सिन्हा लंबे समय से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके कामकाज के तरीकों को लेकर लगातार हमले करते रहे हैं. वे मोदी के कट्टर आलोचक रहे हैं. नोटबंदी से लेकर जीएसटी पर उन्होंने सवाल उठाया. लेकिन भाजपा ने उन्हें बाहर का रास्ता नहीं दिखाया. इसलिए माना जारहा है कि उनका टिकट भाजपा काट देगी. शत्रुघ्न सिन्हा भी मानसिक तौर पर इसके लिए तैयार हैं. वे कहते भी रहे हैं कि सिचुशन कुछ भी हो लोकेशन नहीं बदलेगा.
 
टिकट कटने की चर्चा के बीच ही शत्रुघ्न सिन्हा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर और हमलावर हो गए हैं. उन्होंने पच्चीस लाख चौकीदारों से ऑडियो ब्रिज के जरिए संवाद करने पर मोदी से कहा है कि चौकीदारों से बात करने से ज्यादा लंबे समय से लंबित समस्याओं का हल निकालें. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि सर, कृपया चौकीदारों से बात करने की बजाय लंबे समय से घर कर चुकी समस्याओं पर बात करें और उसका समाधान निकालें और आएं हम सब मिलकर होली खेलें, न कि राफेल चोर और चौकीदार चोर है’ खेलें. एक दिन पहले भी शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रधानमंत्री के विपक्षी महागठबंधन को महामिलावट कहने पर तंज कसा था. तब शत्रु ने लिखा था कि सरजी, आपके मुताबिक बीस से अधिक पार्टियां ‘महामिलावट’ हैं और चालीस से अधिक पार्टियां आपका समर्थन कर रही हैं! लोग इसे क्या कहेंगे ‘महागिरावट’. अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि जनता से किए गए वादे अभी भी पूरे होने बाकी हैं. बिहारी बाबू हाल के दिनों में लगातार मोदी पर हमलावर हैं. उनके तेवर से साफ है कि भाजपा उनका पत्ता साफ करेगी. कहा जा रही है कि सिन्हा पटना साहब से ही चुनाव लड़ेंगे लेकिन भाजपा की जगह वे कांग्रेस के टिकट पर किस्मत आजमा सकते हैं. इस बात की भी चर्चा है कि वे होली के बाद भाजपा से इस्तीफा देकर कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं. होली के बाद 23 फरवरी को पूर्णिया में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की चुनावी सभा है. पूर्णिया के पूर्व भाजपा सांसद पप्पू सिंह उर्फ उदय सिंह कांग्रेस में शामिल हो गए हैं. उम्मीद जताई जा रही है कि उसी दिन शत्रुघ्न सिन्हा कांग्रेस का हाथ थाम सकते हैं. हालांकि, शत्रु पहले ही इशारा कर चुके हैं कि व् पटना साहिब से ही चुनाव लड़ेंगे.
 
महागठबंधन में सहयोगी दलों की तरफ से कोई परेशानी न हो इसके लिए शत्रुघ्न सिन्हा पहले ही रांची जाकर राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद से दो-तीन बार मुलाकात कर चुके हैं. माना जा रहा है कि राजद की तरफ से पटना साहब सीट पर शत्रुघ्न सिन्हा को उम्मीदवार बनाए जाने से कोई ऐतराज नहीं है. चर्चा तो इस बात की भी थी कि बुधवार  ही शत्रुघ्न कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं लेकिन महागठबंधन में सीट बंटवारे का एलान होली के बाद तक टल गया है. इसलिए माना जा रहा है कि अब होली के बाद ही वे भाजपा से इस्तीफा देंगे और कांग्रेस का हाथ थामेंगे. चर्चा है कि भाजपा पटना साहब से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को शत्रुघ्न सिन्हा के खिलाफ उतार सकती है. अगर ऐसा होता है तो यह सियासी लड़ाई दिलचस्प होगी. हालांकि शत्रुघ्न के राजद के टिकट पर भी उम्मीदवार बनने की चर्चा है लेकिन राजद के उम्मीदवार होने पर खतरा यह है कि कायस्थों का वोट उन्हें नहीं मिलेगा. इसलिए उन्हें कांग्रेस का उम्मीदवार बनाया जा रहा है. 
email ईमेल करें Print प्रिंट संस्करण
  • भरत के बदले दागी,नहीं सहेगा बलिया बागी !
  • मोदी ही देश ,मोदी ही सरकार और मोदी ही पार्टी !
  • अख़बारों की लीगल रिपोर्टिंग का यह हाल !
  • पश्चिम में तो गठबंधन भारी,भाजपा की राह मुश्किल
  • छतीसगढ़ में भाजपा का रास्ता आसान नहीं
  • अतिक्रमणकारी थे तो उन्हें मुआवजा क्यों
  • साहब की 'सुरुआत' तो फीकी फीकी रही
  • अडानी के सामने बघेल भी दंडवत !
  • कमलनाथ ने ही घेरा है दिग्विजय को ?
  • बनारस में कौन होगा विपक्ष का उम्मीदवार ?
  • कूड़े के ढेर पर बैठी काशी !
  • छतीसगढ़ में आक्रामक हुई भाजपा
  • बिहार में तो लड़ेंगी जातियां ही
  • गिरमिटिया महोत्सव के रूप में मानेगा लोकरंग 2019
  • भाजपा ने हारी हुई सीटें जदयू को दी
  • प्रियंका गांधी से कौन डर रहा है ?
  • तो अब धरोहरों से मुक्त हुई भाजपा
  • विदेश में तो बज ही गया डंका
  • साढ़े तीन दर्जन दलों की नाव पर सवार हैं मोदी !
  • यह दौर बिना सिर पैर की ख़बरों का भी है
  • Post your comments
    Copyright @ 2016 All Right Reserved By Janadesh
    Designed and Maintened by eMag Technologies Pvt. Ltd.